RKant
A solo, offbeat and responsible blog run by Rkant, voted among the best bloggers in world.

चांद का सफर, बीड़ियां बनाना, कपड़े धोना- TN और केरल ने दिखाए मतदाताओं को लुभाने के नए रास्ते

बेंगलुरू: तमिलनाडु के मदुराई में एक निर्दलीय उम्मीदवार आर सर्वानन ने, मतदाताओं के लिए बहुत सारे बेतुके वायदे किए हैं- हेलिकॉप्टर्स, आईफोन्स, तीन मंज़िले विला, और उनके खातों में एक करोड़ रुपए.

और ये सिर्फ आधे वादे हैं. सर्वानन के सबसे बड़े चुनावी वादे में, सचमुच सितारे भी शामिल हैं- उन्होंने हर वोटर को अश्वासन दिया है, कि अगर वो सत्ता में आ गए, तो उन्हें एक बार चांद की सैर कराएंगे.

सच कहें तो सर्वानन ने दि न्यू इंडियन एक्सप्रेस से कहा, कि उनका चुनावी घोषणापत्र दरअस्ल, राज्य की मुफ्त उपहार की संस्कृति पर एक व्यंग है, जो ख़ासकर चुनावों के दौरान सामने आती है.

हालांकि, नागापट्टिनम से एआईएडीएमके उम्मीदवार थांगा कथिरावन के मामले में ऐसा नहीं है, जिन्होंने अपने मतदाताओं को वॉशिंग मशीन देने का वादा किया है.

अपना संदेश पहुंचाने के लिए, कथिरावन को अपने चुनाव प्रचार में कपड़े धोते हुए देखा गया है. डिटर्जेंट से कपड़े धोने के बाद, उन्हें खंगालने और पानी निचोड़ने का उनका एक वीडियो, सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है.

ये उम्मीदवार अकेले नहीं हैं.

मछली तलने, परांठे, और चाय बनाने से लेकर, खेतों और बीड़ी फैक्ट्रियों में काम करने तक, तमिलनाडु और केरल में उम्मीदवार, मतदाताओं को लुभाने के लिए, अजीब और नई नई नौटंकियां कर रहे हैं.


यह भी पढ़ें: संप्रदायवाद और ‘लव जिहाद’ पर भाजपा के भय फैलाने का केरल में नहीं होगा असर: शशि थरूर


उम्मीदवार शेफ

ऐसा लगता है कि बहुत सारे उम्मीदवार, चुनाव के दौरान खाना बनाने में भी हाथ आज़मा कर रहे हैं.

चेन्नई के विरुगंबक्कम चुनाव क्षेत्र में, डीएमके उम्मीदवार प्रभाकर राजा को, सड़क किनारे डोसा बनाते हुए, कैमरे में क़ैद किया गया है. लेकिन ये ज़रूर है कि उन्होंने दोसा बिल्कुल कुरकुरा और गोल बनाया.

कमल हासन की मक्कल नीधि मैयम की प्रियदर्शिनी तो इसे, एक पायदान और ऊपर ले गई हैं. अपने एगमोर चुनाव क्षेत्र में एक प्रचार अभियान के दौरान, प्रियदर्शिनी सड़क किनारे एक स्टॉल पर रुकीं, और मछली फ्राई करने में एक वेंडर की मदद करने लगीं.

बीजेपी की स्टार उम्मीदवार खुशबू सुंदर ने, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चाय वाले की छवि को ध्यान में रखते हुए, अपने थाउज़ैण्ड लाइट्स चुनाव क्षेत्र में चाय कूटनीति की. उन्होंने ट्विटर अकाउंट पर अपनी तस्वीरें पोस्ट कीं, जिनमें वो आरकॉट के नवाब और उनके परिवार से चाय पर मिल रही हैं.

पड़ोसी केरल में, सिटिंग इडुकी विधायक और केरल कांग्रेस (मणि) उम्मीदवार रोशी ऑगस्टीन, समय निकालकर केरल परांठा बनाना सीख रहे थे.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो में उन्हें आटा गूंधते हुए, और उसे एक मार्बल सरफेस पर बेलकर, स्टोव पर सेंकते दिखाया गया है. ऑगस्टीन ज़िले के कट्टप्पाना से अपना चुनाव प्रचार करके लौट रहे थे.


यह भी पढ़ें: कांग्रेस की गिरफ्तारी की मांग के बाद जॉयस जॉर्ज ने वापस ली राहुल गांधी के खिलाफ अपनी टिप्पणी


काम में हाथ गंदे करना

कुछ उम्मीदवार तो अपने मतदाताओं की नक़ल करने पर उतर आए हैं, ताकि ‘उनकी मुश्किलों’ को समझ सकें.

कोयंबटूर के सिंगनालूर में एआईडीएमके उम्मीदवार, केआर जयराम अपने चुनाव क्षेत्र में एस सब्ज़ी मंडी पहुंच गए, और सब्ज़ियां व फल बेंचने में समय बिताया. उन्होंने इस अवसर का इस्तेमाल विक्रेताओं की समस्याओं को समझने में किया, और अन्य चीज़ों के अलावा, उनके लिए बेहतर सुविधाओं का वादा किया.

मदुरई से विधायक और राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री, आरबी उदय कुमार को, तिरुमंगलम में अपने चुनाव प्रचार के दौरान, धान के खेतों में काम करते देखा गया है.

एडप्पड़ी में डीएमके प्रत्याषी टी संपत कुमार, जो मुख्यमंत्री एडप्पड़ी पलानिसामी के सामने चुनाव लड़ रहे हैं, अपने चुनाव क्षेत्र में एक बीड़ी फैक्ट्री में गए, और बीड़ियां बना रहीं महिलाओं की सहायता की.

अन्य उम्मीदवारों में, मंसूर अली ख़ान ने ऐलान किया था, कि वो कोयंबटूर की थोंडामुथुर सीट से, निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगे, हालांकि बाद में वो पीछे हट गए. लेकिन इससे पहले वो भी सोशल मीडिया पर देखे गए, जहां वो एक कूड़ेदान के पास बैठे, हाथ में नोटबुक लेकर लोगों की शिकायतें लिख रहे थे.

कैबिनेट मंत्री जयकुमार चेन्नई के अपने चुनाव क्षेत्र रोयापुरम में, मशहूर ‘एमजीआर’ टोपी लगाए हुए, साइकिल रिक्शा में बैठकर वोट मांग रहे हैं.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: ओमान चांडी बोले—सबरीमला परंपरा की रक्षा के लिए कानून का कांग्रेस का वादा यू-टर्न नहीं


 

You may also like...

1 Response

  1. AviGoel says:

    Great Post

Leave a Reply

%d bloggers like this: