RKant
A solo, offbeat and responsible blog run by Rkant, voted among the best bloggers in world.

NIA ने वाजे पर UAPA लगाया, कोर्ट का ATS को मनसुख हिरेन मौत मामले की जांच रोकने का आदेश

मुंबई: राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने एंटीलिया के पास से विस्फोटक मिलने के मामले में आरोपी निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के खिलाफ बुधवार को गैरकानूनी गतिविधियां (निवारण) अधिनियम (यूएपीए) की धाराएं भी लगाई हैं.

मुंबई में 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के निकट एक कार से विस्फोटक बरामद हुए थे. इस मामले में वाजे एनआईए की हिरासत में हैं.

एनआईए ने विशेष एनआईए अदालत को इस मामले में यूएपीए की धाराएं जोड़ने की जानकारी देते हुए बुधवार को अर्जी दाखिल की.

सूत्रों के अनुसार मुंबई पुलिस में सहायक निरीक्षक वाजे पर यूएपीपीए की धारा 16 और 18 के तहत आरोप लगाए गए हैं.

एनआईए ने वाजे की हिरासत खत्म होने से एक दिन पहले यह कदम उठाया है.


यह भी पढ़ें: मनसुख हिरेन की हत्या में सचिन वाजे प्रमुख आरोपी, NIA से उसकी हिरासत मांगेंगे: ATS


अदालत ने महाराष्ट्र ATS से मनसुख हिरेन मौत मामले की जांच रोकने को कहा

ठाणे की एक अदालत ने बुधवार को महाराष्ट्र के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) को निर्देश दिया कि वह व्यवसायी मनसुख हिरन की मौत मामले की जांच रोक दे और मामले के रिकार्ड तत्काल एनआईए को सौंप दे.

हिरेन गत पांच मार्च को ठाणे में एक क्रीक में मृत पाए गए थे. उससे कुछ दिन पहले हिरन ने दावा किया था कि दक्षिण मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास जो स्कॉर्पियो मिली थी वह उसके पास से चोरी हो गई थी. अंबानी के घर के बाहर मिले उक्त वाहन में विस्फोटक सामग्री मिली थी.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हिरन मामले की जांच 20 मार्च को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दी थी. हालांकि एटीएस ने अपनी जांच जारी रखी और दो दिन पहले इस मामले को सुलझाने का दावा किया.

केंद्रीय जांच एजेंसी के वकील ने कहा कि एनआईए ने ठाणे के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट से एटीएस को यह निर्देश देने का अनुरोध किया था कि वह मामले को सौंप दे.

मजिस्ट्रेट ने दोनों एजेंसियों की दलीलें सुनने के बाद निर्देश दिया कि एटीएस का जांच अधिकारी जांच पर आगे नहीं बढ़ेगा और बिना किसी देरी के सभी संबंधित दस्तावेज और रिकॉर्ड एनआईए को सौंप देगा.

एनआईए पहले ही विस्फोटक वाले एसयूवी की बरामदगी से संबंधित मामले की जांच कर रहा है और मुंबई पुलिस के निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे को गिरफ्तार किया है.

हिरन की पत्नी ने आरोप लगाया था कि वाजे कुछ समय से उसी एसयूवी का उपयोग कर रहे थे और उनके पति की मृत्यु में उसकी भूमिका है.

इस सप्ताह की शुरुआत में एटीएस ने दावा किया था कि हिरन हत्याकांड में वाजे प्रमुख आरोपी है और बृहस्पतिवार को एनआईए की रिमांड समाप्त होने के बाद वह उसकी हिरासत की मांग करेगा. एटीएस ने मामले में निलंबित पुलिसकर्मी विनायक शिंदे और क्रिकेट सट्टेबाज नरेश गौड़ को गिरफ्तार किया है.


यह भी पढ़ें: पूर्व पुलिस, बुकी, 93 सिम, 14 फोन, 3 दिन, व्हाट्सएप- कैसे बनी थी मनसुख हिरेन की ‘हत्या की योजना’


 

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: