RKant
A solo, offbeat and responsible blog run by Rkant, voted among the best bloggers in world.

मध्य प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम छह बजे से सोमवार छह बजे तक रहेगा लॉकडाउन

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरूवार को कहा कि कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने के चलते प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम छह बजे से सोमवार प्रात: 6 बजे तक 60 घंटे तक लॉकडाउन रहेगा.

चौहान ने यह बात प्रदेश में कोविड-19 की समीक्षा करने के बाद यहां मीडिया से कही.

उन्होंने कहा, ‘पूरे मध्य प्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार को शाम छह बजे से लेकर सोमवार सुबह छह बजे तक शहरी क्षेत्र में लॉकडाउन रहेगा.’

इससे पहले मध्य प्रदेश के भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, रतलाम, छिंदवाड़ा, ग्वालियर एवं उज्जैन सहित कुछ अन्य शहरों में केवल रविवार को ही लॉकडाउन हो रहा था, जिसे अब बढ़ाकर शुक्रवार को शाम छह बजे से लेकर सोमवार सुबह छह बजे तक का कर दिया गया है.

चौहान ने कहा, ‘बाकी जिन शहरों में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ी है, वहां आपदा प्रबंधन समिति बैठक करके इसे रोकने के लिए आवश्यक एवं उपयुक्त फैसला करेंगी.’

उन्होंने कहा कि हम कोरोना के मरीजों के लिए इलाज की सारी व्यवस्थाएं कर रहे हैं और उनके लिए बिस्तरों की संख्या को बढ़ाकर एक लाख किया जाएगा.

चौहान ने कहा कि हमने प्रदेश के प्रत्‍येक जिले में कम से कम एक कोविड केयर सेंटर प्रारंभ करने का निर्णय भी लिया है. यहां उन मरीजों को पृथकवास पर रखा जायेगा, जिनके घर पर पृथकवास के लिए पर्याप्‍त स्‍थान उपलब्‍ध नहीं है.

उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों के लिए नि:शुल्‍क इलाज के लिए कुछ बिस्‍तर आरक्षित किए गए हैं.

वहीं, मध्य प्रदेश सरकार ने बुधवार शाम को कहा कि प्रदेश के समस्त नगरीय क्षेत्रों में आठ अप्रैल से आगामी आदेश तक रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू रहेगा. साथ ही, प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों में आगामी तीन माह तक सप्ताह में पांच दिन (सोमवार से शुक्रवार) ही कामकाज होगा.

इसके अलावा, मध्य प्रदेश के सम्पूर्ण छिंदवाड़ा जिले में 8 अप्रैल की रात 8 बजे से आगामी 7 दिन तक संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा.

मध्य प्रदेश में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 4,043 नए मामले दर्ज किये गये हैं. इन्हें मिलाकर प्रदेश में अब तक 3,18,014 लोगों को यह महामारी अपनी चपेट में ले चुकी है, जिनमें से अब तक 4,086 लोगों की मौत हो चुकी है.


यह भी पढ़ें: गे वकील किरपाल को HC जज बनाए जाने के अभी भी खिलाफ है मोदी सरकार, CJI को भी दी जानकारी


 

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: